Breaking News

शहरी क्षेत्र में 99 व ग्रामीण में75 फीसदी बंट गई आइवर मैक्टिन 

 शहरी क्षेत्र में 99 व ग्रामीण में75 फीसदी बंट गई आइवर मैक्टिन 

शहरी क्षेत्र में 99 व ग्रामीण में75 फीसदी बंट गई आइवर मैक्टिन

बागेश्वर। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्मय से सभी जिलों के जिलाधिकारियों, सीएमओ तथा पुलिस अधीक्षकों के साथ स्वास्थ्य संबंधी तैयारियों की समीक्षा की। सभी से मानसून सत्र में ऑक्सीजन की कमी नहीं होने देने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने सीएम को बताया कि जिले के शहरी क्षेत्र में 99, ग्रामीण में 75 फीसदी आइवर मैक्टिन दवा वितरित की गई है। 45 प्रतिशत से अधिक उम्र के 97 प्रतिशत लोग कोरोना वैक्सीन लगा चुके हैं। शनिवार को आयोजित वीसी में सीएम रावत ने कहा कि कोरोना वायरस के साथ-साथ डेंगू भी स्वास्थ्य विभाग के लिए चुनौती है। डेंगू के बचाव उपायों व उपचार की भी समीक्षा की। इसके लिए आमजन को जागरूक करने से हम डेंगू के मच्छर पैदा होने से रोक सकते हैं। इसके लिए अस्पतालों में अलग वार्ड बनाएं। जिलाधिकारी ने बताया कि कोविड की तीसरी लहर को दखेते हुए जिले में बच्चों के उपचार के लिए अलगे से आईसीयू बेड स्थापित किए जा रहे हैं। साथ ही सीएचसी कांडा व कपकोट में ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट स्थापित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि जनपद में इस वक्त 91 कोविड पॉजिटिव केस हैं, जिनमें 83 होम आइसोलेशन तथा आठ का उपचार कोविड अस्पताल में चल रहा है। जिले में पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन उपलब्ध है, जिसमें 562 ऑक्सीजन जंबो सिंलिडर, 149 बी-टाईप सिंलिडर तथा 255 ऑक्सीजन कंसीटे्रटर शामिल है। वीसी में पुलिस अधीक्षक अमित श्रीवास्तव, अपर जिलाधिकारी चंद्र सिंह इमलाल, जिला विकास अधिकारी केएन तिवारी, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. बीडी जोशी आदि मौजूद रहे।

 

 

Rakesh Kumar Bhatt

https://www.shauryamail.in

Related post

error: Content is protected !!