Breaking News

शिक्षिका कुसुम लता गड़िया द्वारा क्यू आर कोड का प्रयोग किया शिक्षण में

 शिक्षिका कुसुम लता गड़िया द्वारा क्यू आर कोड का प्रयोग किया शिक्षण में

शिक्षिका कुसुम लता गड़िया द्वारा क्यू आर कोड का प्रयोग किया शिक्षण में

 

चमोली /पोखरी । अकसर हमारे विद्यालय की दीवारों पर बने चित्र मात्र चित्र ही बनकर रह जाते और उससे सम्बन्धित जानकारियों से छात्र अनभिज्ञ रह जाते हैं या बहुत कम जानकारी उस चित्र से सम्बन्धित छात्रों के पास होती है , लेकिन अब ऐसा नहीं विद्यालय का हर चित्र बोलेगा उससे सम्बन्धित महत्त्व पूर्ण जानकारी छात्रो के सम्मुख होगी ‌।

इसी दिशा में एक महत्वपूर्ण नवाचार रा उ प्रा वि वीणा द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में किया है जिससे निसंदेह सभी छात्रों को शिक्षण में लाभ मिलेगा।

विद्यालय की प्र अ श्रीमती कुसुम लता गड़िया द्वारा बताया गया है कि रा उ प्रा वि वीणा उत्तराखंड का पहला विद्यालय होगा जहां क्यू आर कोड का प्रयोग शिक्षण को रूचिकर और सुगम बनाने में किया गया।

प्रत्येक TLM और चित्रों पर क्यू आर कोड लगाया गया है जिसे गुगल लेंस से स्केंन करते ही उस चित्र से सम्बन्धित विडियो हमारे मोबाइल पर शुरू हो जायेगी,

साथ ही विद्यालय में स्थानीय जड़ी बूटियों का एक संग्रह किया गया है जिस पर भी क्यूआर कोड लगाया गया है क्यू आर कोड स्केन करते ही उस प्लान्ट से सम्बन्धित पूरी जानकारी हमारे मोबाइल पर देख सकते हैं ,ये जानकारी टैक्स और विडियो के रूप में छात्रों को प्राप्त होगी। विद्यालय के प्रत्येक सामान पर भी क्यू आर कोड लगाया गया है ताकि पारदर्शिता बनी रहे,यही नहीं टीचर डायरी पर भी क्यू आर कोड का प्रयोग किया गया है ताकि विडियो एवं अन्य दस्तावेजों का संग्रह हो सके और कोई भी सम्मानितअधिकारी हमारे कार्यों को देख सके।

क्यू आर कोड से शिक्षण रूचिकर बनेगा साथ ही बाहरी ज्ञान से हम छात्रों को जोड़ सकते हैं , आनलाइन शिक्षण में भी हम इस क्यू आर कोड बच्चों को भेज सकते हैं ताकि वह उस स्केन कर वहीं शिक्षण सामग्री देख सके और उसके सामने गुगल की अन्य बेबसाइट ना खुले, इससे बच्चों को हम मोबाइल के दुष्प्रभाव से भी बचा सकते हैं।

विद्यालय के बाहरी परिसर में भी क्यू आर कोड लगाये गये है ताकि अवकाश के दिन में भी कोई विद्यालय परिसर में आये तो विद्यालय से सम्बन्धित बहुत सी जानकारियां स्वयं विद्यालय की दीवार बता दें।

खण्ड शिक्षा अधिकारी महोदय पोखरी श्री भास्कर चन्द्र बेबनी द्वारा बताया गया कि निःसंदेह यह नवाचार शिक्षा के क्षेत्र सराहनीय है ब्लाक स्तर पर सभी विद्यालयों को इसका प्रयोग किया जाना चाहिए।

इस अवसर पर श्री बी. सी. मणि प्रधानाचार्य रा उ मा वि वीणा, प्रबन्धन समिति अध्यक्ष श्रीमती आशा देवी, विनोद कुमार मैखुरी ,डाॅ बिजेंद्र कठैत, राकेश चंद्र त्रिपाठी, राकेश भट्ट,जय प्रकाश किमौठी,प्रमोद असवाल,जीत सिंह रावत, अनिल कुमार राज, राजकिशोर लिंगवाल,दीपक कण्डारी,मुकेश भट्ट, चंद्र कला ओशनिक ,विनीत‌ रावत, निर्मला नेगी, अपराजिता, रचना, रामेश्वरी देवी, पार्वती देवी,आलोक जोशी आदि उपस्थित थे

Rakesh Kumar Bhatt

https://www.shauryamail.in

Related post

error: Content is protected !!