Breaking News

प्रांतीय रक्षक दल के प्रतिनिधिमंडल ने मंत्री अरविंद पांडे से मुलाकात की।

 प्रांतीय रक्षक दल के प्रतिनिधिमंडल ने मंत्री अरविंद पांडे से मुलाकात की।

प्रांतीय रक्षक दल के प्रतिनिधिमंडल ने मंत्री अरविंद पांडे से मुलाकात की।

उत्तराखंड (देहरादून) सोमवार 19 जुलाई 2021

आज प्रांतीय रक्षक दल हित संगठन का एक प्रतिनिधिमंडल प्रदेश अध्यक्ष प्रमोद मंदवाल के नेतृत्व में माननीय विभागीय मंत्री श्री अरविंद पांडे जी से पी. आर. डी जवानों की लंबित पड़ी मांगों के संबंध में मुलाकात कर उन्हें विभिन्न मांगों का ज्ञापन सौंपा।

वर्ष 2020 को राज्य युवा महोत्सव में मंत्री जी द्वारा की गई घोषणाएं जो कि पीआरडी जवानों का आकस्मिक अवकाश, मातृत्व अवकाश, उपार्जित अवकाश एवं वेतन बढ़ोतरी व 12 माह का नियमित रोजगार इत्यादि सुविधा प्रदान करना।

कोविड के दौरान शहीद हुए पीआरडी जवानों को फ्रंटलाइन वारियर्स घोषित किया जाये व सरकार या विभाग द्वारा उनके परिवारजनों को उचित धनराशि मुहैया करवाई जाये और साथ ही उनके परिवार के किसी एक व्यक्ति को पीआरडी में रोजगार उपलब्ध कराया जाय।

फरवरी मार्च 2021 को विभाग एवं सरकार की मिलीभगत से कुंभ के नाम से हजारों लोगों को गुमराह कर उन्हें प्रशिक्षण करवाया गया जो कि सरासर नियम विरुद्ध है। जब वे लोग फरवरी मार्च 2021 में प्रशिक्षण ले रहे थे तो उस समय माननीय उच्च न्यायालय द्वारा 17.3.2021 को याचिका दायर की गई थी जिसमें इस तरह के प्रशिक्षण को न करवाये जाने के लिए पीआरडी निदेशालय को उच्च न्यायालय द्वारा प्रस्तुत किया गया था। जिसके बावजूद विभाग ने अपने चहेतों को प्रशिक्षण प्रमाण पत्र उपलब्ध करवया जो कि उच्च न्यायालय के निर्देश की अवहेलना है। इससे समस्त पी.आर.डी जवानों. में रोष व्याप्त है।

 

वार्ता के दौरान माननीय मंत्री जी से सभी बिंदुओं पर उचित कार्यवाही करने की हेतु विभाग सचिव श्री बृजेश कुमार संत को ज्ञापन देकर अति शीघ्र कार्रवाई करने एवं शासनादेश जारी करने के निर्देश दिए। सरकार द्वारा कोई भी कार्यवाही अमल में नहीं लाई जाती तो संगठन महामहिम राज्यपाल महोदया एवं माननीय मुख्यमंत्री जी से मुलाकात करेगा।

प्रतिनिधिमंडल में प्रदेश महासचिव श्री विजेंद्र सिंह लोधी, जिला अध्यक्ष श्री गम्भीर सिंह रावत, जिला महासचिव महेंद्र सिंह, श्री पंकज कुमार आदि अन्य पीआरडी के जवान उपस्थित रहे।

Rakesh Kumar Bhatt

https://www.shauryamail.in

Related post

error: Content is protected !!