Breaking News

जगदीश सेमवाल  के नेतृत्व में समण गांव भिलंगना नदी में पुल बनाए जाने के संबंध में माननीय मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी से मिला।

 जगदीश सेमवाल  के नेतृत्व में समण गांव भिलंगना नदी में पुल बनाए जाने के संबंध में माननीय मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी से मिला।

जगदीश सेमवाल  के नेतृत्व में समण गांव भिलंगना नदी में पुल बनाए जाने के संबंध में माननीय मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी से मिला।

देव भूमि गोरक्षा (ट्रस्ट) व समण गांव का एक प्रतिनिधिमंडल जगदीश सेमवाल (पूर्व सैनिक) के नेतृत्व में समण गांव भिलंगना नदी में पुल बनाए जाने के संबंध में माननीय मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी से मिला।

जगदीश सेमवाल (पूर्व सैनिक) ने बताया कि धोपडाधार समण गांव मे प्रधानमंत्री सडक योजना के अंतर्गत सड़क पर डामरीकरण का कार्य 2018 में पूर्ण हो चुका है परंतु अभी तक भिलंगना नदी में विभाग की घोर लापरवाही के कारण 6 साल बीत जाने के बाद भी पुल नहीं बना है। ग्रामीणों को 6 किलोमीटर पैदल मुख्य मार्ग पर जाना पड़ता है।प्रसव पीड़ा के दौरान महिलाओं को चारपाई पर उठा कर ले जाना पड़ता है। जिसमें 3 महिलाओं ने अस्पताल में पहुंचने से पहले ही दम तोड़ दिया।

पुल के संबंध में कई बार विभाग के अधिकारियों से मुलाकात की परंतु आशवासन के अलावा कुछ नहीं मिला। गांव की जनता में भारी आक्रोश है।

कई बार विभागीय अधिकारियों को बताया जा चुका है परंतु खाली झूठे आश्वासन दिए जाते हैं। समस्त गांव ने फैसला लिया है कि अगर पुल निर्माण नहीं हुआ तो आगामी 2022 के विधान सभा चुनाव का बहिष्कार करने के लिए मजबूर होना पड़ेगा।

मुख्यमन्त्री पुष्कर सिंह धामी को ज्ञापन दिया गया। उन्होंने कहा कि इस समस्या का समाधान जल्द किया जायेगा।

प्रतिनिधिमंडल में जगदीश सेमवाल (पूर्व सैनिक)के साथ देव भूमि गोरक्षा (ट्रस्ट) के संस्थापक विकास सुंदरियाल (सोनू मुछ) व देव भूमि गोरक्षा वाहिनी के सदस्य, राजेंद्र सेमवाल (पूर्व प्रधान), धनीराम बडोनी, अजय बडोनी, कृष्णा सेमवाल, व गांव के अन्य लोग मौजूद रहे।

Rakesh Kumar Bhatt

https://www.shauryamail.in

Related post

error: Content is protected !!