Breaking News

भीमताल में सितंबर माह से शुरू होगा पैराग्लाइडिंग का रोमांच भरा सफर

 भीमताल में सितंबर माह से शुरू होगा पैराग्लाइडिंग का रोमांच भरा सफर

भीमताल में सितंबर माह से शुरू होगा पैराग्लाइडिंग का रोमांच भरा सफर

 

यूटीडीबी के अधिकारियों ने पैराग्लाडिंग संचालन करने वाली फर्मों के उपकरणों का किया निरीक्षण

देहरादून/नैनीताल/अल्मोड़ा 23 अगस्त, 2021। उत्तराखंड में साहसिक पर्यटन की असीम संभावनाओं को देखते हुए साहसिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद (यूटीडीबी) की ओर से लगातार काम किया जा रहा है। सुरक्षा की दृष्टि से यूटीडीबी के अधिकारियों ने भीमताल में पैराग्लाडिंग का संचालन करने वाली विभिन्न कंपनियों के उपकरणों का निरीक्षण कर सुरक्षा व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

 

यूटीडीबी के अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी (साहसिक पर्यटन) कर्नल अश्विन पुंडीर के नेतृत्व में विवेक सिंह चौहान, अपर निदेशक, व अन्य यूटीडीबी के अधिकारियों ने एयरो स्पोर्ट्स में नामित कमेटी के सदस्यों के साथ मिलकर पैराग्लाडिंग संचालित फर्मों के उपकरणों का निरीक्षण किया।

अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी (साहसिक पर्यटन) कर्नल अश्विन पुंडीर ने बताया कि दो दिवसीय निरीक्षण कार्यक्रम के तहत फर्माे द्वारा चलाई जाने वाली पैराग्लाडिंग में सुरक्षा इंतजामों का जायजा लिया गया और पुराने उपरकणों को हटाए जाने की प्रक्रिया चलाई गई। इसके आधार पर सितंबर माह से भीमताल में पैराग्लाइडिंग शुरू करने के लिए परमिट का नवीनीकरण किया जाएगा। उधर विभाग के अधिकारियों ने केएमवीएन भीमताल परिसर में निर्मित साहसिक खेल भवन का भी जायजा लिया और यहां कयाकिंग व एयरो स्पोर्ट्स के लिए उत्कृष्टता केंद्र बनाए जाने पर विस्तार से चर्चा की।

 

उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद (यूटीडीबी) के अपर निदेशक विवेक सिंह चौहान ने कहा कि सैलानियों को आकर्षित करने और बुनियादी ढांचा विकसित करने के उद्देश्य से विभाग तेजी से काम कर रहा है। देश-विदेश के पर्यटकों को सुरक्षित माहौल उपलब्ध कराने के लिए पैराग्लाडिंग संचालन के लिए प्रयोग किए जाने वाले उपकरणों का निरीक्षण किया। साथ ही प्रदेश में साहसिक खेलों को बढ़ावा देने के लिए जल्द ही देहरादून, टिहरी, पिथौरागढ़ और पौड़ी में पैराग्लाडिंग का संचालन करने वाली फर्मों के उपकरणों का निरीक्षण किया जाएगा। इसके अलावा राफ्टिंग परमिटों के नवीनीकरण की कार्यवाही भी की जा रही हैं। विभाग द्वारा सभी प्रकार की सेवाओं को ऑनलाइन किये जाने पर भी कार्य किया जा रहा है।

इस मौके पर थल क्रीड़ा स्पोर्ट्स विशेषज्ञ रणबीर सिंह नेगी, नैनीताल जिला पर्यटन विकास अधिकारी अरविंद गौड़, बीएसएफ के आरके पुनिया और एयरो कमेटी के सदस्य लक्ष्मण सिंह रावत मौजूद रहे।

———————–

 

साहसिक खेलों का हब बनेगा उत्तराखंड का मार्चुला, केएमवीएन ने तैयार की डीपीआर

 

यूटीडीबी के अधिकारियों ने किया मार्चुला से भिकियासैंण का स्थलीय निरीक्षण

 

साहसिक खेल गतिविधियों के माध्यम से प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए सरकार की ओर से नए पर्यटन स्थलों की तलाश करने के साथ उन्हें विकसित करने पर तेजी से काम किया जा रहा है। इसके तहत अल्मोड़ा के मार्चुला में एंगलिंग, पैराग्लाइडिंग, ट्रेल रन, माउंटेन बाइकिंग, रिवर, क्रॉसिंग, वॉटर रोलिंग, ऑफ-रोडिंग, हाइकिंग, सफारी जैसे साहसिक खेलों को विकसित करने के लिए उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद (यूटीडीबी) के अधिकारियों ने सोमवार को स्थलीय निरीक्षण किया।

यूटीडीबी के अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी (साहसिक पर्यटन) कर्नल अश्विन पुंडीर के नेतृत्व में यूटीडीबी और कुमाऊं मंडल विकास निगम (केएमवीएन) के अधिकारियों ने निरीक्षण किया। अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी (साहसिक पर्यटन) कर्नल अश्विन पुंडीर ने बताया कि मार्चुला से लेकर भिकियासैंण में होने वाले विकास कार्यों के लिए केएमवीएन की ओर से डीपीआर तैयार की गई है। क्षेत्र में पर्यटकों को बेहतर सुविधा देने के लिए विभाग की ओर से कुछ महत्वपूर्ण सुझाव भी दिए। इसके साथ ही मार्चुला में पर्यटकों को आवास और स्वादिष्ट भोजन के साथ अन्य सभी सुविधाएं दी जाएगी। इससे पहले साहसिक खेलों को बढ़ावा देने के लिए पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज के निर्देशन में यूटीडीबी व जिलाधिकारी अल्मोड़ा के उचित मार्गदर्शन में साहसिक खेलो के लिए पांच दिवसीय मार्चुला एडवेंचर मीट 2021 का द्वितीय संस्क्रण का आयोजन किया गया था।

इस मौके पर केएमवीएन के सहायक अभियंता मनोज महार्षिवाल, यूटीडटी के सुरेंद्र सिंह बोहरा और एंगलिंग विशेषज्ञ संजीव मौजूद रहे।

Rakesh Kumar Bhatt

https://www.shauryamail.in

Related post

error: Content is protected !!